पढ़िए कैसे SSC CGL के सबसे कठिन विषय अंग्रेजी भाषा की तैयारी करनी चाहिए |

SSC CGL के अंग्रेजी विषय की तैयारी करने से पहले आइए जानते है कुछ रोचक बाते अँग्रेजी विषय के बारे मे :-

भारत देश विविधताओं मे एकता रखने वाला देश हैं जिसके वजह से यह पुरे विश्व मे मशहूर है। भारत मे रहने वालो की संख्या एक अरब से भी ज्यादा है और यह के रहने वाले लोग कई तरह की भाषा का इस्तेमाल करते है एक दूसरे से बात करने के लिए।

एक अनुमान के अनुसार भारत देश मे यूँ तो कई भाषाओ का इस्तेमाल होता जिनमे से कुछ महत्वपूर्ण भाषाएँ ये है जिन्हे भारत की लगभग 90 प्रतिशत आबादी इस्तेमाल करती हैं जिनमें हैं हिंदी, बंगाली, असमिया, गुजराती , तमिल, तेलुगू, उर्दू, सिंधी, संस्कृति, पंजाबी, नेपाली, मराठी, मलयालम, कश्मीरी और कनाडा इत्यादी।

जैसा की हम देख सकते है भारत जैसे देश मै अंग्रेजी भाषा किसी भी राज्य मै नहीं बोली जाती क्योकि अँग्रेजी भाषा पुराने समय से अंग्रेजो द्वारा इस्तेमाल की जाती आ रही है और निसंदेह अंग्रेजी एक अंतर्राष्ट्रीय भाषा हैं।

भारत की राष्ट्रीय एवं मात्र मातृ भाषा हिन्दी हैं। परन्तु वर्तमान समय मे हिंदी से ज्यादा अंग्रेजी भाषा को महत्व दिया जा रहा हैं और यह आज के ज़माने की जरूरत भी है क्योकि अंग्रेजी भाषा विश्व के हर हिस्से मे इस्तेमाल होती है। सुनने मे विचित्र है पर अँग्रेजी भाषा का ज्ञान होना बहुत जरुरी है वर्तमान युग मे एवं कई जगह अंग्रेजी भाषा को इस्तेमाल लोग अपनी मात्र भाषा के रूप मे भी करते है। यही अंग्रेजी भाषा का ज्ञान हमे CGL के अंग्रेजी प्रश्न पत्र को अच्छे से लिखना सिखा  सकता है।

CGL परीक्षा के अँग्रेजी भाषा के परीक्षा पात्र को हम निरंतर अभ्यास से अच्छे से लिखना सिख सकते हैं।

CGL की परीक्षा में अंग्रेजी विषय के 4 टॉपिक्स के बारे मे पुछा जाता है जिनके नाम है।

  • वोकैबुलरी
  • ग्रामर
  • वर्बल एबिलिटी
  • रीडिंग सेक्शन

यह प्रश्न पत्र 25 नंबर का होता है


Preparation of English Language For SSC CGLE Is Tougher 

SSC CGL & Everything About SSC CGL For Beginner & Expert Aspirants 

Why Candidates Compare CGLE V/S CHSLE and Differentiate Them 


पढ़िए कैसे SSC CGL के सबसे कठिन विषय अंग्रेजी भाषा की तैयारी करनी चाहिए :-

CGL परीक्षा मे अंग्रेजी विषय का अधूरा ज्ञान खतरनाक होता है :-

ये कहावत तो आपने सुनी होगी की अधूरा ज्ञान खतारनाक होता हैं उसी तरह अंग्रेजी विषय का अधूरा ज्ञान भी आपके लिए खातरनाक साबित हो सकता है। अगर आपको ऍंगरेजी विषय का अधूरा ज्ञान है और आप उसका इस्तेमाल करते हैं कुछ आधे -अधूरे वाक्यो और शब्दो को अंग्रजी मे बोल कर, तो यह कार्य आपको लोगो की हँसी का पात्र बना सकता है।

अंग्रेजी भाषा को अछि तरह से सिखने के लिये जरुरत है अंगेरजी भाषा मे अच्छे अभ्यास की। अँग्रेजी भाषा सिखने का जो बुनियादी ढांचा है वह अंग्रेजी की व्याकरण से सिखने से बनता हैं एवं हमारी अँग्रेजी विषय की बुनियाद मजबूत बनती हैं।

SSC CGL मे अंग्रेजी विषय के लिए हमेशा याद रखने लायक बाते : –

  • एक वाक्य जो है यह 3 चीजों से मिलकर बना होता है कर्ता यानि सब्जेक्ट, क्रिया यानी वर्ब एवं ऑब्जेक्ट यानी कर्म बाकी स्तब्ध करता  यानी डूबजेक्ट से जुड़े हुए रहते है।
  • कर्ता यानि सब्जेक्ट हमेशा या तो संज्ञा या फिर सर्वनाम होता है।
  • क्रिया यानि वर्ब जो है वह वाक्य की रीढ़ कि हड्डी होती है।

यहाँ ऱीढ़ की हड्डी से मतलब है अगर अनुमान लगयाजाये की बिना रीढ़ क़ी हड्डी के मानव शरीर केसा लगेगा, उसी प्रकार वाक्य भी बिना रीढ़की हड्डी क्रिया के सही नहीं लगेगा।

सम्बंद सूचक सब्दो का सही जगह इस्तेमाल करना जैसे :- “आई ऍम द बाथरूम” की जगह हमे लिखा होगा “आई ऍम इन द बाथरूम” और “द सीलिंग फेन इस द हैड” की जगह लिखना होगा “द सीलिंग फेन इस अबव द हेड” यहाँ सम्बन्ध सुचक शब्द है ” इन एंड अबव ” .

इस सब्दो से अँग्रेजी भाषा मे क्या मतलब निकलता हैं :- हम हमेशा बोलते, पढ़ते और लिखते है खुद कि भाषा मे बिना शब्दो के भेद को समझते हुए क्योकि वाक्य का बुनियादी ढांचा हमारे मस्तिष्क मे  एवं दिमाग मे सुरक्षित रहता है। हमे बुनियादी ढाँचे को अच्छे से समझने और सिखने की जरुरत होती है जिससे हम व्याकरण समबन्दी गलतिया न करे।

आपने किसी न किसी ऐसे व्यक्ति को देखा होगा जिसे अच्छी तरह अंग्रेजी भाषा बोलना या लिखना नही आता और उस पर भी  जब उस व्यक्ति बोलने या लिखने के लिए बाधित किया जाता है तो कुछ शब्द ऐसे होते है जिसका हिंदी से अंग्रेजी शब्द उसे याद नहीं होता या वह उसका अंग्रेजी रूपांतरण नहीं जनता तो ऐसे स्थिति मे वह व्यक्ति खाली दिमाग जैसा महसूस करता है जैसी उसे कुछ नहीं आ रहा हो।

  • पढ़ना  और निरंत्तर अभ्यास एवं दिमागी तोर पर समझना होगा की कैसे अंग्रेजी भाषा को कैसे इस्तेमाल करना हैं
  • टियर 1 मे 200 प्रश्न के उत्तर देने के लिए उम्मीदवार जो अंग्रेजी की व्याकरण को बेहतर तरीके से समझना होता है।
  • कॉम्प्रिहेंशन प्रश्न को अच्छे से पाषणे और समझने के लिए उमीदवार को वोकैबुलरी या स्य्नोन्य्म्स् , अन्टोनिम्स, प्रो वर्ब्स इत्यादी।
  • एक ही तरह के शब्द को पैसेज, स्टोरी मे अलग अलग जगह इस्तेमाल करना सीखे।
  • स्तब्ध स्पेलिंग की गलतिया पहचान कर उन्हें सही करना।

SSC CGL के इंग्लिश विषय की तैयारी के लिए याद रखने वाली बाते :-

  • एक ही प्रश्न को बार बार न पढ़े
  • प्रश्न को आराम से पढ़े और समझने की कोशिस करे की प्रश्न क्या पूछा जा रहा है
  • वो प्रश्न पहले हल न करे जिसका पूर्ण उत्तर आप न जानते हो इससे अच्छा है आप पहले वे प्रश्न हल करे जो आपको अच्छे से आते हो
  • व्याकरण सम्बंधित को हल के लिए उमीदवार को अत्यधिक अभ्यास की जरुरत होती है

Preparation of English Language For SSC CGLE Is Tougher 

SSC CGL & Everything About SSC CGL For Beginner & Expert Aspirants 

Why Candidates Compare CGLE V/S CHSLE and Differentiate Them 


 

December 4, 2018

0 responses on "पढ़िए कैसे SSC CGL के सबसे कठिन विषय अंग्रेजी भाषा की तैयारी करनी चाहिए |"

    If You Have Any Question Regarding SSC Examinations Then You Can Ask Here.

    Welcome To SSCNOTIFICATION.COM

    Get All SSC Notification Here


    SSC Notification is Not an Official Website of SSC But It Publishes All The Current SSC Notifications Which are Mentioned on Staff Selection Commission’s Notice Board.
    Learn more

    Subscribe to Get SSC Notifications On Email

    Enter your email address to subscribe here and receive latest ssc notifications on email.

    Join 65,865 other subscribers

    Copyright © 2015-2018 SSCNOTIFICATION.COM All Rights Reserved.